एशियाई अमेरिकी लोगों की स्वास्थ्य चिंताएं

अन्य अश्वेत समुदायों की तरह, एशियाई व अमेरिकी समुदायों के बीच स्वास्थ्य परिणाम व सूचनों में बेहद असमानता मौजूद है। कैंसर, कार्डियोवास्कुलर रोग, डायबिटीज़, हैपेटाइटिस बी, और ओस्टियोपोरोसिस सहित अमेरिका में इस जनसंख्‍या को स्वास्थ्य समस्याओं का गैरआनुपातिक बोझ प्रभावित कर रहा है।

राष्ट्रीय स्तर का डेटा संकेत देता है कि एशियाई अमेरिकी लोगों  में मौत का सबसे बड़ा कारण कैंसर है। खासतौर पर, एशियाई अमेरिकी लोगों में लीवर पेट का कैंसर होने की दर सबसे ज़्यादा है। उनमें गैरलातिन अमेरिकी श्वेत लोगों की तुलना में लीवर कैंसर होने की संभावना तीन गुना ज़्यादा और पेट का कैंसर होने की संभावना दो गुना ज़्यादा होती है। हैपेटाइटिस बी के लगभग आधे गंभीर मामले (लीवर संबंधी रोग व कैंसर का पूर्व संकेत) एशियाई अमेरिकी लोगों में होते हैं, उनमें टीबी होने की संभावना अमेरिकी जनसंख्या से पांच गुना ज़्यादा होती है, और उनके द्वारा अन्य जातीय समूहों की तुलना में कैंसर की जांच सेवाएं उपलब्‍ध करने की संभावना कम होती है।

हालांकि जातीय उपसमूहों द्वारा बिना मिलाए हुए डेटा की कमी है, लेकिन संपूर्णता में जनसंख्या के कुछ महत्वपूर्ण डेटा ये हैं:

कैंसर

  • अमेरिकी जनसंख्या में एशियाई व अमेरिकी एकमात्र हिस्सा है, जिसमें मौत होने का का सबसे बड़ा कारण कैंसर है।.
  • जनसंख्या के किसी भी दूसरे हिस्से के मुकाबले एशियाई व अमेरिकी महिलाओं में स्तन कैंसर की जांच कराने की दरा सबसे कम है और अन्य नस्लीय व जातीय समूहों की तुलना में बाद की अवस्था में जटिल रूप से रोग का पता चलता है।
  • जब एशियाई महिलाएं अमेरिका में आती हैं, तो स्तन कैंसर होने का जोखिम छह गुना बढ़ जाता है। एक दशक अमेरिका में रहने वाली एशियाई प्रवासी महिलाओं में नई प्रवासी महिलाओं की तुलना में स्तन कैंसर होने का जोखिम 80 अधिक होता है।
  • एशियाई व अमेरिकी में लीवर व पेट का कैंसर होने की सर्वाधिक दर है और उनमें गैर-लातिन अमेरिकी श्वेत लोगों की तुलना में लीवर कैंसर होने की संभावना 3 गुना ज़्यादा होती है।
  • गैर-लातिन अमेरिकी श्वेत लोगों की तुलना में पेट के कैंसर से मरने की संभावना एशियाई अमेरिकी लोगों में दोगुनी होती है और लीवर कैंसर से मरने की संभावना 2.5 गुना होती है।

हृदय संबंधी रोग

  • 18 वर्ष या ज़्यादा उम्र के एशियाई लोगों के बीच, 5.6% लोगों में हृदय रोग होता है, 3.8% लोगों में जन्मजात हृदय रोग, 16.1% में उच्चरक्तचाप और 1.8% में स्ट्रोक होता है (NHIS 2003, CDC/NCHS)

डायबिटीज़

  • लगभग 7.5% एशियाई अमेरिकी लोगों में डायबिटीज़ होता है, और उनमें शरीर का वजन होने के बावजूद टाइप-2 डायबिटीज़ (गैर-लातिन अमेरिकी श्वेत लोगों की तुलना में) होने की संभावना ज़्यादा होती है।
  • आयु, लिंग, व बॉडी मॉस इंडेक्स के अनुसार, एशियाई अमेरिकी लोगों में डायबिटीज़ की मौजूदगी गैर-लातिन अमेरिकी श्वेत लोगों की तुलना में, 60% ज़्यादा होती है।
  •  
    • एशियाई भारतीय महिलाओं में गर्भावस्था डायबिटीज़ की दर 8.6% होती है (गैर-लातिन अमेरिकी श्वेत लोगों के 3.8% की तुलना में)।

हैपेटाइटिस बी

  • हालांकि एशियाई अमेरिकी कुल जनसंख्या के  केवल 4.5% का प्रतिनिधित्व करते हैं, लेकिन वे अमेरिका में हैपेटाइटिस बी के गंभीर 13-15 लाख अनुमानित मामलों के आधे से ज़्यादा मामलों से ग्रस्त होते हैं।
  • एशियाई अमेरिकी लोगों में हैपेटाइटिस बी से मृत्यु दर श्वेत जनसंख्या के मुकाबले 7 गुना ज़्यादा है।

ओस्टियोपोरोसिस

  • एशियाई महिलाओं में ओस्टियोपोरोसिस होने का ज़्यादा जोखिम होता है। कैल्शियम का औसत उपभोग- हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए ज़रूरी पोषक तत्व – एशियाई महिलाओं में पश्चिमी जनसंख्या समूहों की तुलना में आधा होने का अनुमान है।

घरेलू हिंसा

  • 13% एशियाई व अमेरिकी लोगों, मूल हवाई, प्रशांत द्वीप की महिलाएं अपने जीवन में शारीरिक हमला झेलती हैं।
  • वाशिंगटन डीसी मेट्रो एरिया में एशियाई व अमेरिकी महिलाओं के 2000-2001 सर्वेक्षण के अनुसार, 81.1% महिलाओं ने अंतरंग साथी के दुर्व्यवहार के किसी न किसी रूप – भावनात्मक, शारीरिक, आदि – का अनुभव पिछले एक साल में किया है, जबकि 32% ने कम से कम कभी न कभी शारीरिक व लैंगिक दुर्व्यवहार का अनुभव किया है।

मानसिक स्वास्थ्य

  • अन्य जातीय समूहों की लड़कियों की तुलना में एशियाई व अमेरिकी किशोर लड़कियों में अवसाद के लक्षणों का ऊंचा दर होने की रिपोर्ट मिली है।
  • मानसिक स्वास्थ्य सेवाएं पाने वालों में, श्वेत लोगों की तुलना में एक चौथाई, और अफ्रीकी अमेरिकी और लातिन अमेरिकी लोगों की तुलना में आधे एशियाई व अमेरिकी लोग शामिल हैं।

तंबाकू

  • एशियाई व अमेरिकी नौजवान – ग्रेड 7 से 12 – ने अपने आयु समूह में दूसरे नस्लीय व जातीय समूहों की तुलना में धूम्रपान दर में सबसे ज़्यादा बढ़त दर्शाई है।
  • अन्य सभी जातीय समूहों में से, एशियाई व अमेरिकी में मैरीलैंड की तंबाकू रोधक हैल्पलाइन 1-800-QUIT-NOW  के लिए विज्ञापन के संपर्क में आने की संभावना कम (26%) थी।